Typing Speed Kaise Badhaye: टाइपिंग कैसे सीखें और टाइपिंग स्पीड बढ़ाने के तरीके कौन से हैं।

कम्प्यूटर को चलाना प्रत्येक चाहता है लेकिन typing speed बढ़ाना कोई नहीं चाहता। कम्प्यूटर की नाॅलेज तभी मानी जाती है जब कम्प्यूटर की नाॅलेज के साथ साथ typing speed fast हो। लेकिन typing speed kaise badhaye, यदि आप typing speed बढ़ाना चाहते है तो आपको typing speed badhane वाले तरीकों को अपनाना चाहिए। 

कम्प्यूटर ने हमारे काम करने के तरीके को काफी हद तक आसान कर दिया है। कम्प्यूटर की मदद से घंटों का काम मिनटों में किया जा सकता है। कम्प्यूटर व लैपटाॅप पर typing speed fast होने पर काम को जल्दी व कम समय में कर सकते हैं। नौकरी के लिए लिखित परीक्षा पास करने के साथ टाइपिंग टेस्ट भी पास करना जरूरी है।

यदि आप भी अपनी  typing speed fast करना चाहते है तो इस typing speed kaise badhaye आर्टिकल को पूरा पढ़े। यह आर्टिकल आपको अपनी typing speed badhane के लिए काफी मदद करेगा। इसमें typing speed badhane ke tarike को पूरी डिटेल से बताया गया है।

Typing Karna Kaise Sikhe

टाइप प्रैक्टिस की शुरुआत, सबसे पहले बीच वाली लाइन A S D F G H J K L ; से करनी चाहिए। अपने बाएँ हाथ की पहली उँगली से (A) दूसरी ऊँगली से (S) तीसरी उँगली से (D) व चौथी ऊँगली से (F) (G) टाइप करे। इसी प्रकार से अपने दाएँ हाथ की पहली उँगली से (;) दूसरी ऊँगली से (L) तीसरी उँगली से (K) व चौथी ऊँगली से (J) (H) टाइप करे।

ऊपर वाली लाइन Q W E R T Y U I O P की टाइप प्रैक्टिस करनी चाहिए। अपने बाएँ हाथ की पहली उँगली से (Q) दूसरी ऊँगली से (W) तीसरी उँगली से (E) व चौथी ऊँगली से (R) (T) टाइप करे। इसी प्रकार से अपने दाएँ हाथ की पहली उँगली से (P) दूसरी ऊँगली से (O) तीसरी उँगली से (I) व चौथी ऊँगली से (U) (Y) टाइप करे।

उसके बाद Z X C V B N M , . वाली लाइन की टाइप प्रैक्टिस करनी चाहिए। अपने बाएँ हाथ की पहली उँगली से (Z) दूसरी ऊँगली से (X) तीसरी उँगली से (C) व चौथी ऊँगली से (V) टाइप करे। इसी प्रकार से अपने दाएँ हाथ की पहली उँगली से (.) दूसरी ऊँगली से (,) तीसरी उँगली से (M) व चौथी ऊँगली से (N) (B) टाइप करे।

Typing Speed Badhane Ke Tarike

सही पोजीशन में बैठना

टाइपिंग शुरू करने से पहले सही पोजीशन में बैठना चाहिए। मॉनीटर की ऊँचाई आपके सिर के बराबर होनी चाहिए ना अधिक ऊँचा और ना ही अधिक नीचा। हाथों की कलाई व कीबोर्ड का सही संतुलन होना चाहिए। आपके कन्धे भी ऊपर उठे नहीं होने चाहिए, यदि कन्धे ऊपर उठे होंगे तो कन्धों में दर्द शुरू हो जाएगा।

कीबोर्ड के अक्षरों की पहचान

कीबोर्ड के अक्षर अलग अलग स्थान पर होते है। A से Z तक अक्षरों को कीबोर्ड पर तीन लाइनों में रखा गया है। इसलिए टाइपिंग शुरू करने से पहले कीबोर्ड के अक्षरों की पहचान होनी चाहिए। जब तक कीबोर्ड के अक्षरों के बारे में कौन सा अक्षर कहाँ पर है पहचान नहीं होगी, तब तक टाइप की स्पीड नहीं बढेगी। इसलिए कीबोर्ड के अक्षरों की पहचान होनी चाहिए। 

उंगलियों की पोजीशन

अपने बांए हाथ की उंगलियों को कीबोर्ड के बीच वाली लाइन ASDF और दाएं हाथ की उंगलियों को 2 अक्षर (G व H) को छोड़कर JKL; पर होनी चाहिए। टाइप करते समय ऊपर व नीचे के अक्षर टाइप करने के बाद वापिस बीच वाली लाइन (ASDF) पर आनी चाहिए। 

स्पेलिंग व उच्चारण

सही स्पेलिंग और सही उच्चारण (pronunciation) भी टाइपिंग स्पीड बढाने में सहायक सिद्ध होते है। यदि आपको word spelling आती है तो आप अक्षरों को आसानी से टाइप कर सकते है। खाली समय में स्पेलिंग याद करने की कोशिश करें।

कीबोर्ड का चुनाव

कीबोर्ड से भी typing speed फर्क पड़ता है। छोटे बटन वाला कीबोर्ड पर उंगलियों की पोजीशन सही नहीं बैठती। इसलिए टाइपिंग सीखते समय कीबोर्ड ऐसा होना चाहिए जिसके button उभरे व बड़े होने चाहिए। टाइप प्रैक्टिस होने के बाद आप अपनी मर्जी का कीबोर्ड चुन सकते है।

माइंड फोक्सिंग

कुछ लोग टाइपिंग करते समय ज्यादातर ध्यान keyboard के बटनों पर और computer screen पर रखते है। ऐसा करने से टाइपिंग में अधिक समय लगता है। टाइपिंग करते समय उसी मैटर पर ध्यान रखना चाहिए जो टाइप करना है।

मोबाइल टाइपिंग

बहुत से लोग इस भ्रम में रहते है कि उनकी मोबाइल पर टाइप स्पीड फ़ास्ट है। वे कम्प्यूटर पर भी typing fast speed में कर सकते है। ऐसा असंभव है क्योंकि मोबाइल पर एक ऊँगली से टाइप करते है जबकि कीबोर्ड पर सभी उँगलियों व अँगूठों का यूज़ किया जाता है। इसलिए टाइप सीखने के लिए कम्प्यूटर का ही प्रयोग करना चाहिए।

लक्ष्य बनाना

जब तक किसी काम के लिए जज्बा, जुनून और लक्ष्य तय नहीं होता। तब तक उस काम के फेल होने के चान्स ज्यादा रहते है। लक्ष्य चाहे छोटा ही क्यों ना हो, लक्ष्य अवश्य बनाना चाहिए। शुरुआत में 25 wpm टाइपिंग करने का लक्ष्य बना सकते है। इस प्रकार आप अपनी टाइप की स्पीड आसानी से बढ़ा सकते है। 

ऑनलाइन टाइप टेस्ट

आपको इंटरनेट पर ऐसी वेबसाइट मिल जाएगी जो online typing test करने की सुविधा प्रदान करती है। आप इनकी मदद से टाइम सेट करके ऑनलाइन टाइपिंग की प्रैक्टिस कर सकते है। पॉपुलर नाम जैसे- online typing test, online typing master, free typing test, typing tutor, typing club, typing games, online speed typing, type practice etc.

टाइप प्रैक्टिस

शुरुआत में प्रतिदिन 2 से 3 घंटे type practice करें। Type practice जितनी अधिक करोगें उतनी ही टाइपिंग में निखार आएगा। ऐसा करने से आपकी टाइप स्पीड आटोमेटिक बढ़ने लगती है। कुछ महीने में ही आपकी टाइपिंग स्पीड फ़ास्ट हो जाएगी। आप कम्प्यूटर पर टाइपिंग वर्क को आसानी से कर पाएंगे।

Leave a Comment