सिबिल स्कोर कैसे करें चेक | Free cibil score check kaise kare

आपको लोन मिलेगा या नहीं, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपका cibil score कैसा है। बैंक या दूसरी फाइनेंस कंपनी लोन देते समय cibil score check करती है। क्या आप जानते हैं कि (apna free cibil score check kaise kare) सिबिल स्कोर कैसे चेक करें?

कोई भी बैंक या फाइनेंस कंपनी लोन देने से पहले cibil score इसलिए चेक करती है ताकि यह पता चल सके कि आप उस लोन को चुकाने के लिए कितने समर्थ हैं। इसलिए, कोई भी loan apply करने से पहले अपना cibil score चेक कर लेना चाहिए। 

सिबिल स्कोर क्या है और आप apna credit score kaise pata kare कि आपका सिबिल स्कोर कितना अच्छा है। इसलिए, cibil score check करके मॉनिटर करते रहना चाहिए।

सिबिल स्कोर क्या है?

CIBIL का full form Credit Information Bureau of India Limited होता है। सिबिल स्कोर 3 अंकों का होता है जिसके द्वारा किसी भी व्यक्ति की फाइनेंशियल हिस्ट्री को दर्शाता है। Cibil score को 300 से 900 के बीच में मापा जाता है। 

सिबिल स्कोर बैंकों के लिए एक पैमाने की तरह काम करता है जिससे यह पता लगाया जा सकता है कि किसी व्यक्ति का पिछला कर्ज चुकाने के लिए रवैया कैसा रहा है।

अगर आपको घर बनाने के लिए, बिजनेस शुरू करने के लिए, पर्सनल लोन लेना हो या क्रेडिट कार्ड बनवाना हो तो इन सबके लिए सबसे पहले credit score को भी चेक किया जाता है।

जिस व्यक्ति का credit rating जितना अच्छा होगा उस व्यक्ति को किसी भी बैंक या संस्था से लोन आसानी से मिल सकता है।

यह भी पढ़े:- ज़ेस्ट मनी से लोन कैसे लें

पेटीएम से सिबिल स्कोर कैसे चेक करें?

पेटीएम ऐप को अधिकतर लोग यूज़ करते हैं। यदि आप भी पेटीएम ऐप यूज करते हैं तो पेटीएम पर फ्री में cibil score check कर सकते हैं। अगर आप पेटीएम यूजर नहीं है तो पेटीएम ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड करके केवाईसी करने के बाद फ्री में सिबिल स्कोर चेक कर सकते हैं। 

  • पेटीएम ऐप को ओपन करें। 
  • उसके बाद all services में जाएं या टॉप सर्च बार में cibil score सर्च करके ढूंढ सकते हैं। 
  • क्रेडिट स्कोर आइकन पर क्लिक करें। 
  • उसके बाद, नाम, मोबाइल नंबर, पैन कार्ड की डिटेल देने पर आपका सिबिल स्कोर रेटिंग के साथ दिखाया जाएगा।

बजाज फाइनेंस सिबिल स्कोर चेक कैसे करें?

बजाज फाइनेंस भी फ्री में सिबिल स्कोर चेक करने के लिए सुविधा प्रदान करता है। बजाज फाइनेंस की वेबसाइट पर आसानी से अपना सिविल रिकॉर्ड चेक कर सकते हैं। सबसे पहले आपको अपना प्रोफेशन का चुनाव करना होगा। आपसे पूछा जाएगा कि आप सैलरी लेते हैं या अपना कोई खुद का बिजनेस करते हैं। 

इसके अलावा आपका नाम, मोबाइल नंबर, पैन कार्ड नंबर, जन्मतिथि, टोटल इनकम, ईमेल आईडी, अपने शहर का नाम और पिन कोड डालने के बाद submit पर क्लिक करें। अब आपके मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा। OTP वेरीफाई करने के बाद आपका सिबिल स्कोर स्क्रीन पर दिखाई देगा। 

इतना ही नहीं, बजाज फाइनेंस आपके सिबिल स्कोर के आधार पर कौन-कौन से लोन और क्रेडिट कार्ड आदि मिल सकते हैं उसके लिए भी सुझाव देता है।

Cibil Score कितना होना चाहिए?

  1. अगर आपका क्रेडिट स्कोर 300 से 579 के बीच में है तो आपका रेटिंग स्कोर ख़राब है।
  2. अगर आपका क्रेडिट स्कोर 580 से 669 के बीच में है तो आपका रेटिंग स्कोर संतोषजनक माना जाएगा।
  3. अगर आपका क्रेडिट स्कोर 670 से 739 के बीच में है तो यह माना जाएगा कि आपका स्कोर अच्छा है।
  4. अगर आपका क्रेडिट स्कोर 740 से 799 के बीच में है तो उसको बहुत अच्छा माना जाएगा।
  5. यदि आपका क्रेडिट स्कोर 800 से 900 के बीच में है तो आपका क्रेडिट रेटिंग excellent मानी जाएगी।
  6. यदि आपका स्कोर 650 से कम है तो आपका क्रेडिट रेटिंग बहुत ही कमजोर है। इस रेटिंग पर लोन लेना मुश्किल हो जाता है क्योंकि इस रेटिंग के आधार पर कोई भी bank loan नहीं देगा।
  7. अपनी क्रेडिट रेटिंग को अच्छा बनाए रखने के लिए लोन या credit card की पेमेंट का समय पर भुगतान करना चाहिए।

Cibil Score खराब क्यों होता है?

  • कर्ज़ों का समय पर भुगतान नहीं करना। 
  • क्रेडिट लिमिट से ज्यादा खर्च करना। 
  • एक ही समय में अधिक लोन लेना।
  • नए-नए क्रेडिट कार्ड बनवाना।
  • क्रेडिट कार्ड आउटस्टैंडिंग पेमेंट का मिनिमम पेमेंट करना।

Cibil Score इंप्रूव कैसे करें?

  • एक ही समय में अधिक लोन न लें।
  • लोन और क्रेडिट कार्ड की पेमेंट समय पर करें। 
  • जहां तक हो सके due date से पहले ही पेमेंट करने की कोशिश करें।
  • जब तक संभव हो एक ही क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल लंबे समय तक करना चाहिए। 
  • क्रेडिट कार्ड की part payment करने की बजाय full payment करनी चाहिए।

Late payment से कैसे बचें?

लोन हो या क्रेडिट कार्ड बिल की पेमेंट दोनों का समय पर ही करना चाहिए। लेट पेमेंट से बचने के लिए auto debit feature को इनेबल करना चाहिए। 

ऑटो डेबिट ऑप्शन इनेबल करने से अकाउंट से ऑटोमेटिक पेमेंट कट जाती है। लेकिन इस बात का ध्यान जरूर रखें कि आपको due date से पहले आपके खाते में पैसे जरूर होने चाहिए अन्यथा आपका credit score खराब हो सकता है। 

अगर आप क्रेडिट कार्ड आउटस्टैंडिंग पेमेंट नहीं करते तो outstanding amount को ईएमआई में कन्वर्ट कर लेना चाहिए। एक सिंगल ईएमआई आउटस्टैंडिंग होने पर आपकी credit history पर फर्क पड़ सकता है।

उम्मीद है कि आपको cibil score के बारे में दी गई जानकारी पसंद आई। यदि फिर भी आपके मन में सिबिल स्कोर के बारे में कोई doubts है तो हम इस आर्टिकल में सुधार करने के लिए आपके कीमती सुझाव की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

इंटरनेट पर काफी लोग free cibil score check kaise kare हिंदी में सर्च करते रहते हैं। शायद उनको सिबिल स्कोर के बारे में ज्यादा पता नहीं होगा। आप उनकी मदद करने के लिए इस पोस्ट को सोशल मीडिया जैसे- facebook, whatsapp, telegram इत्यादि पर शेयर जरूर करें।