Jio, Airtel और Vi नंबर पोर्ट करना हुआ आसान | Mobile number porting process

मोबाइल यूजर्स को कॉलिंग, डेटा और मैसेज तीनों का बेनिफिट लेने के लिए महंगा रिचार्ज करवाना पड़ता है। लेकिन कुछ प्लान ऐसे भी है जिनमें मैसेज बेनिफिट नहीं मिलते।

प्रीपेड यूजर्स को नंबर पोर्ट कराने के लिए मजबूरी में s.m.s. बेनिफिट वाले प्लान से रिचार्ज करवाना पड़ता है। यूजर्स की इसी समस्या को देखते हुए टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया (ट्राई) ने यूजर्स को राहत प्रदान की है।

ट्राई ने टेलीकॉम कंपनियों को आदेश दिया है कि अब ग्राहकों को बिना मैसेज वाले प्लान से भी नंबर पोर्ट (mobile number portability) करने के लिए मैसेज भेजने की सुविधा प्रदान करें। 

अब यूजर्स बिना मैसेज वाले प्लान से भी नंबर पोर्ट करने के लिए 1900 पर मैसेज भेजकर यूनिक पोर्ट आउट कोड प्राप्त कर सकेंगे जो दूसरे नेटवर्क को ज्वाइन करने के लिए जरूरी होता है।

MNP का मतलब क्या है?

MNP का मतलब है कि mobile number portability जिसमें अपना current मोबाइल नंबर बदले बिना किसी अन्य मोबाइल नेटवर्क से जुड़ना। 

MNP के माध्यम से BSNL, Reliance Jio, Airtel और Vodafone idea (vi) किसी भी कंपनी को आपस में एक दूसरे में चेंज कर सकते हैं वह भी बिना मोबाइल नंबर बदले।

आप इस तरीके से घर बैठे अपने करंट मोबाइल नेटवर्क कंपनी को किसी दूसरे कंपनी में आसानी से बदल सकते हैं। एमएनपी के लिए एक सिंपल message भेज कर current कंपनी से porting code लेना होता है।

यह भी पढ़ें:- जिओ रिचार्ज पर कैसे पाएं कैशबैक ऑफर्स

नंबर पोर्ट करने पर मिलता है ऑफर

टेलीकॉम कंपनियां अधिक से अधिक लोगों को अपने साथ जोड़ना चाहती है। कोई भी कंपनी नहीं चाहती कि उसके ग्राहक उसको छोड़ कर किसी दूसरी कंपनी में जाएं। 

इसलिए, कंपनियां mobile number portability (MNP) के माध्यम से जुड़ने वाले नए कस्टमर के लिए free call, SMS और free internet data का ऑफर देती रहती है।

नई कंपनी mobile number port यूजर को नया सिम कार्ड देगी जिस पर आपका वही पुराने वाला नंबर चलेगा। लेकिन कंपनी बदल जाती है।

यह भी पढ़ें:- Airtel vs Jio vs Vi के ये है ख़ास 3gb per day recharge plan

इस तरीके से पोर्ट करें अपना मोबाइल नंबर

अगर आप खराब नेटवर्क के कारण low internet speed की समस्या झेल रहे हैं या फिर मोबाइल में नेटवर्क ठीक नहीं आने से call नहीं कर पा रहे हैं तो आपको अपना mobile number किसी दूसरे टेलीकॉम कंपनी में बदल लेना चाहिए। 

  • अपने मोबाइल नंबर के मैसेज बॉक्स में जाए और नया मैसेज टाइप करें।
  • PORT को बड़े अक्षरों में टाइप करें, उसके बाद space देकर मोबाइल नंबर लिखे जो पोर्ट करना है।
  • अब इस मैसेज को उसी मोबाइल नंबर से 1900 पर भेजें। 
  • उसके बाद, आपके मोबाइल नंबर पर एक कोड आएगा।
  • इस कोड को porting code कोड कहते हैं। यह कोड कुछ दिनों के लिए ही मान्य होता है इसलिए, इसका जल्दी यूज़ करना चाहिए।
  • जिस कंपनी में नंबर पोर्ट करना है, पोर्टिंग कोड के साथ अपने नजदीकी मोबाइल शॉप या आउटलेट से मिले।
  • सिंपल प्रोसेस करने के बाद आपको नया सिम दिया जाएगा जिस पर आपका पुराना वाला नंबर चलेगा।

यह भी पढ़ें:- 1 मिनट में कैसे लें जिओ डाटा लोन

इस प्रकार, आप अपने करंट mobile number को पोर्ट करवा सकते हैं। हालांकि, कुछ कंपनियां सिम को home delivery करने की सुविधा प्रदान करती है। आप इसका भी फायदा उठा सकते हैं।