फैमिली आईडी हरियाणा कैसे बनाए और फैमिली आईडी बनाने के फायदे

Family ID Haryana परिवार पहचान पत्र उन सभी परिवारों के लिए बनाई जाएगी। जो हरियाणा प्रदेश के परमानेंट रेजिडेंट है। हरियाणा सरकार द्वारा उनकी भी फैमिली आईडी हरियाणा में बनाई जाएगी, जो अन्य राज्यों से आकर हरियाणा में अस्थाई तौर पर रह रहे है।

संक्षिप्त गाइड

  • फैमिली आईडी क्या है?
  • फैमिली आईडी बनाने के फायदे
  • फैमिली आईडी बनाने के लिए कागज़ात
  • फैमिली आईडी बनाने का तरीका
  • फैमिली आईडी कैसे चेक करे
  • फैमिली आईडी के साथ जुड़ने वाली सेवाएं
  • निष्कर्ष

फैमिली आईडी क्या है?

परिवार पहचान पत्र का मुख्य उद्देश्य हरियाणा में रहने वाले परिवारों का विश्वसनीय डाटा बेस तैयार करना है। क्योंकि सरकार सरकारी योजनाओं का लाभ पात्र परिवार को देना चाहती है। इसलिए प्रत्येक परिवार को आठ अंकों यूनिक फैमिली आईडी दी जाएगी। जिसमें परिवार के हर सदस्य का विवरण होगा।

पहचान पत्र आई कार्ड परिवार के मुखिया के नाम से जारी किया जायेगा। बच्चों का नाम उनके जन्म के तुरंत बाद ही परिवार पहचान पत्र में जोड़ दिया जायेगा। लड़की की शादी के बाद उसका नाम ससुराल के परिवार पहचान पत्र में स्थानांतरित कर दिया जाएगा।

सरकारी योजनाएं जैसे छात्रवृत्ति, सब्सिडी, सभी प्रकार के पेंशन आदि योजनाओं के लिए फैमिली आईडी हरियाणा में जोड़ दिया जाएगा। फैमिली आईडी का हरियाणा में डाटा बेस तैयार होने के बाद परिवारों को सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए आवेदन करने की जरुरत नहीं होगी।

फैमिली आईडी बनाने के फायदे

जिस तरह आधार कार्ड के बिना सरकारी योजनाओं की सुविधा लेना मुश्किल है उसी प्रकार से फैमिली आईडी जरूरी मानी जाएगी। भविष्य में फैमिली आईडी के द्वारा ही सरकारी योजनाओं के साथ साथ अन्य दूसरी सेवाओं के लाभ मिलने वाले हैं। अगर आप योजनाओं का लाभ लेना चाहते है तो आपको अपनी फैमिली आईडी बनवा लेनी चाहिए। फैमिली आईडी बनाने के फायदे नीचे दिए गए है। 

  • फैमिली आईडी से सरकारी योजनाओं में भष्ट्राचार पर रोक लग सकती है।
  • सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए धक्के नहीं खाने पड़ेंगे।
  • फैमिली आईडी से हरियाणा में परिवारों की गणना करना आसान हो जाएगा।
  • फैमिली आईडी से अनुमान लगाकर सरकार अपनी योजनाओं की प्लानिंग कर सकती है।
  • परिवार के मुखिया की उम्र 60 वर्ष होने पर उसकी पेंशन की सूचना आपको मिल जाएगी।
  • परिवार के सदस्य की उम्र 18 वर्ष होने पर उनके नाम से वोटर कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस बन कर घर के पते पर पहुंच जाएगा।

फैमिली आईडी बनाने के लिए कागज़ात

  • पूरे परिवार के सदस्यों का आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर OTP के द्वारा वेरीफाई करने के लिए
  • फैमिली आईडी फॉर्म हरियाणा के लिए आवेदन पत्र

फैमिली आईडी बनाने का तरीका

Family id banane ka tarika: हरियाणा परिवार पहचान पत्र बनवाने के लिए सबसे पहले सरकारी दफ्तरों में कार्यरत सभी कर्मचारियों के लिए अनिवार्य कर दिया है। इससे सभी कर्मचारियों ने अपने ही विभाग में फैमिली आईडी फॉर्म जमा करवा कर परिवार पहचान पत्र बनवाया है। 

हरियाणा की फैमिली आईडी बनाने के लिए परिवार के मुखिया के साथ साथ परिवार के अन्य सभी सदस्यों के बारे में पूरी जानकारी देनी पड़ती है। जैसे कि माता-पिता अथवा पति का नाम, लिंग, जन्म तिथि, उम्र, परिवार के मुखिया के साथ उनका क्या रिश्ता है, आधार कार्ड नंबर व मोबाइल नंबर आदि।

इस आठ अंकों की फैमिली कार्ड में पूरे परिवार का ब्यौरा दिया हुआ होगा। इसको आप अपने परिवार का छोटा राशन कार्ड भी कह सकते हैं। इसके लिए परिवार के प्रत्येक सदस्य का आधार कार्ड होना चाहिए। ऑनलाइन पोर्टल के द्वारा घर बैठे अपना हरियाणा की फैमिली आईडी कार्ड व पहचान पत्र के लिए आवेदन कर सकते हैं।

  • परिवार के लिए पहचान पत्र बनवाने के लिए meraparivar.haryana.gov.in पर विजिट करे।
  • अपने नज़दीकी कॉमन सर्विस सेन्टर पर जाकर फैमिली आईडी कार्ड बनवा सकते है।  
  • अंत्योदय सरल केन्द्र के माध्यम से भी फैमिली आईडी कार्ड बनवा सकते है। 
  • सरकार ने स्कूलों में परिवार पहचान पत्र बनाने के लिए सुविधा दे रखी है।
  • अपने नज़दीकी प्राइवेट अथवा सरकारी स्कूल में जाकर बनवा सकते है।
  • परिवार के लिए पहचान पत्र अप्लाई करने बाद प्रिंट आउट जरूरत लें। 

फैमिली आईडी कार्ड बनवाने के लिए राशन डिपो, गैस एजेंसी, सरल सेंटर, स्कूल, अटल सेवा केन्द्र, खंड विकास कार्यालय व तहसील कार्यालयों में फार्म मुफ्त मिलते है। फैमिली आईडी फार्म को पूरी सावधानी से सही सही जानकारी का ब्यौरा भरें। फॉर्म के साथ में सम्बन्धित कागज लगाकर जमा करवा दे।

संबंधित अधिकारी द्वारा फार्म की जांच करने के बाद आपके मोबाइल नम्बर पर फैमिली आईडी नम्बर की सूचना मिल जाएगी। प्लास्टिक का फैमिली स्मार्ट कार्ड बनाकर आपको मिल जाएगा। जिसमें पूरे परिवार की जानकारी लिखी हुई होगी।

फैमिली आईडी कैसे चेक करे

पहचान कार्ड अप्लाई बनने के बाद उसका स्टेटस की जानकारी के लिए हरियाणा सरकार की वेबसाइट mera pariwar haryana gov in पर जाकर चेक कर सकते है। फैमिली पहचान कार्ड बनने के बाद आपके मोबाइल नंबर यह मैसेज आएगा “आदरणीय, परिवार के मुखिया का नाम, आपकी family id number है मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना का लाभ उठाने के लिए कृपया नज़दीकी CSC/SARAL पर जाएं। धन्यवाद”

फैमिली आईडी के साथ जुड़ने वाली सेवाएं

अगर आप सरकारी योजनाओं और सेवाओं का लाभ लेना चाहते है। आपको अपने परिवार के लिए पहचान पत्र बनवा लेना चाहिए। अब सरकार ने योजनाओं को परिवार पहचान पत्र के साथ जोड़ दिया है। इन सेवाओं का लाभ उन्हीं परिवारों को दिया जाएगा जिनके पास हरियाणा पहचान पत्र होगा। 

परिवार पहचान पत्र के साथ जुड़ने वाली सेवाएं

  • शादी प्रमाण पत्र
  • जन्म प्रमाण पत्र 
  • मृत्यु प्रमाण पत्र
  • वृद्धावस्था पेंशन स्कीम
  • विकलांग पेंशन स्कीम
  • विधवा पेंशन स्कीम
  • ड्राइविंग लाइसेंस 
  • व्हीकल रजिस्ट्रेशन 
  • आय प्रमाण पत्र 
  • आयुष्मान भारत स्कीम 
  • विवाह शगुन योजना 
  • विभिन्न स्कॉलरशिप योजना आदि

परिवार आईडी क्या है?

सरकारी योजनाओं को सुचारु रूप से चलाने के लिए राज्य सरकार प्रत्येक परिवार के लिए आठ अंकों की परिवार पहचान पत्र (PPP) जारी की जाएगी।

फैमिली आईडी हरियाणा क्या है?

हरियाणा में रहने वाले परिवारों की पहचान करने के लिए हरियाणा सरकार पहचान पत्र जारी करेगी जिसमें परिवार के बारे में पूरी जानकारी दी हुई होगी।

मैं अपनी परिवार आईडी कैसे डिलीट करूँ?

आप अपनी परिवार आईडी को डिलीट करने की आवश्यकता  नहीं है। किसी मेम्बर को हटा और जोड़ सकते है।

मैं हरियाणा में परिवार आईडी कैसे जोड़ सकता हूँ?

परिवार आईडी जोड़ने के लिए mera pariwar haryana  gov in वेबसाइट के माध्यम से जोड़ सकते है। आप अपने नज़दीकी CSC व Saral सेंटर के माध्यम से भी परिवार आईडी जोड़ सकते है।

निष्कर्ष

आधार कार्ड बनने के बाद हरियाणा सरकार ने सरकारी योजनाओं को आधार कार्ड के साथ जोड़ दिया था। ऐसा करने से भष्ट्राचार पर लगाम लग गई है। लेकिन आधार कार्ड केवल एक व्यक्ति की पहचान है। अब सरकार ने हरियाणा के निवासियों के लिए परिवार पहचान कार्ड बनाने की योजना लागू की है। क्योंकि परिवार पहचान कार्ड पूरी फैमिली की पहचान है।

आप हरियाणा के हिसार, सिरसा, जींद, भिवानी, गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल, अंबाला, यमुनानगर, पंचकूला, फतेहाबाद, कैथल, भिवानी, चरखी दादरी, रोहतक, झज्जर, सोनीपत, पानीपत, करनाल, कुरूक्षेत्र, नूंह, रेवाड़ी, महेंद्रगढ़ में कहीं भी रहते हो हरियाणा परिवार पहचान पत्र अनिवार्य है। आने वाले समय में फैमिली आईडी हरियाणा के लिए अनिवार्य कर दी जाएगी। इसलिए हर परिवार को फैमिली आईडी कार्ड बनानी चाहिए ताकि आप सरकारी योजनाओं का लाभ ले सके।

Leave a Comment