सरकार ऐसे करेगी कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों की नियुक्ति | Haryana Kaushal Rojgar Yojana

हरियाणा सरकार ने कौशल रोजगार निगम लिमिटेड की स्थापना 5 अगस्त 2021 की है। हरियाणा में कौशल योजना के तहत कर्मचारियों की कॉन्ट्रैक्ट आधार पर नियुक्ति करके विभागों, बोर्डों, निगमों, यूनिवर्सिटीज और अन्य संस्थाएं जो सरकार के अधीन काम कर रही है उनमें लगाया जाएगा।

हरियाणा कौशल रोजगार निगम उद्देश्य

हरियाणा कौशल रोजगार योजना का उद्देश्य है कि ग्रुप सी और ग्रुप डी के पदों पर कर्मचारियों की कॉन्ट्रैक्ट पर नियुक्तियां करना है। यह निगम सरकारी नौकरी (sarkari naukri) की तलाश करने वाले युवाओं का ऑनलाइन डाटा तैयार करेगा। 

उन युवाओं को आवश्यक प्रशिक्षण देकर ट्रेंड करेगा ताकि सरकारी विभागों, बोर्डों, निगमों, यूनिवर्सिटीज आदि  कुशल कर्मचारियों की नियुक्ति की जा सके। हरियाणा कौशल रोजगार निगम स्किल डेवलपमेंट एंड इंडस्ट्रियल प्रशिक्षण डिपार्टमेंट के नियंत्रण में काम करेगा।

स्थापना 5 अगस्त 2021
राज्य हरियाणा 
हेड ऑफिस पंचकुला 
सीईओ शरणदीप कौर बराड़ 
उद्देश्य कर्मचारियों की नियुक्ति करना

क्यों जरूरी है हरियाणा कौशल रोजगार निगम बनाना

जब भी सरकारी विभागों, बोर्डों और निगमों को आउटसोर्स पर कर्मचारियों की जरूरत पड़ती है। वह विभाग न्यूज़ पेपर में टेंडर नोटिस का विज्ञापन देकर सरकारी terms and conditions के आधार पर L-1 ठेकेदार को 1 साल के लिए कॉन्ट्रैक्ट दे देता है।

वह ठेकेदार उस विभाग के लिए ग्रुप-सी और ग्रुप-डी के पदों पर ही कर्मचारियों की नियुक्ति करता है। टर्म्स और कंडीशंस को पूरा नहीं करने पर उस ठेकेदार को विभाग द्वारा ब्लैकलिस्ट भी किया जा सकता है।

ठेकेदार द्वारा कॉन्ट्रैक्ट पर लगे कर्मचारी को सैलरी, ईपीएफ और मेडिकल सुविधाएं दी जाती है। लेकिन कुछ ठेकेदार, आउटसोर्सिंग पर रखे कर्मचारियों की सैलरी में से ईपीएफ का पैसा काट लेते थे लेकिन कर्मचारियों के पीएफ खाते में जमा नहीं करवाते थे। 

पता चलने पर उक्त विभाग द्वारा कर्मचारी के पैसे के साथ धोखाधड़ी करने वाले ठेकेदारों के विरुद्ध कार्रवाई की जाती थी। जिनके काफी मामले कोर्ट में लंबित पड़े हैं। आखिर, आउटसोर्सिंग पर लगे कर्मचारियों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ता था। 

हरियाणा सरकार कौशल रोजगार निगम के द्वारा कर्मचारियों की नियुक्ति करके ठेकेदारी प्रथा को खत्म करना चाहती है। इसके बनने के बाद भविष्य में कॉन्ट्रैक्ट पर कर्मचारियों की नियुक्तियाँ की जाएगी।

कौन सी कैटेगरी आती है पार्ट 1 में

पार्ट 1 कैटेगरी में निर्धारित समय में कार्य पूरा करने के लिए बिना स्वीकृत पोस्टों के ही कर्मचारियों की कॉन्ट्रैक्ट पर नियुक्ति की जाती है। संबंधित विभाग कार्य पूरा होने के बाद कॉन्ट्रैक्ट पर लगे कर्मचारियों को हटा सकता है। 

कौन सी कैटेगरी आती है पार्ट 2 में

पार्ट 2 कैटेगरी में सरकार द्वारा (sanctioned posts) स्वीकृत पदों पर ही कर्मचारियों की कांटेक्ट के आधार पर नियुक्ति की जाती है। इस कैटेगरी में लगे कर्मचारी तभी हटाए जा सकते हैं जब उन पदों पर रेगुलर कर्मचारियों की नियुक्ति पर आती है। 

कॉन्ट्रैक्ट पर कर्मचारियों को लगाने के लिए संबंधित विभाग कौशल रोजगार निगम लिमिटेड को अपनी रिक्वायरमेंट भेजेगा। उसके बाद, कौशल रोजगार निगम योग्यता के आधार पर कर्मचारियों को नियुक्त करके उस विभाग में लगा देगा।